शनिवार, 31 जनवरी 2009

लौधड़: आज क् अवधी

३१-जनवरी-२००९
============

लौधड़
-------------------
फूहड़

वाक्य में प्रयोग
------------------
फलाने क् नयकी पतोह एकदम लौधड़ बाटइ, कौनउ काज (काम) ठीक से नाइ कइ पावत.

टिप्पणी:
---------
आज क् अवधी क् प्रयोग हम बहुत कमइ सुने बाटी. आप के क्षेत्र में एकर प्रयोग कइ जात् ह कि नाहीं?
जरूर बतावइँ.

3 टिप्‍पणियां:

  1. लौधड़ शब्द त् हम नही सुने बाटी लेकिन फूहड़ (फूहर) शब्द अपने ओर बहुत सुनेके मिलेला . की फलाने बहुत फूहड़ बाटें चार रोज बाद एक दिन नहालेन . या बहुत फूहर मेहरारू बा इहो सुनेके मिल जाला.

    उत्तर देंहटाएं
  2. आलोक जी ,लौधड़ ,लदह्ड़ =पिछड़ा =बेसऊर एकै सबद होये जौन '' दस कोस पै बदले बानी '' मसल का साबित करत है |

    उत्तर देंहटाएं
  3. हम काल राती के जब सोवत रहे त् अपने कपारे में लोधढ़ सबद हेरत रहे तब हमका याद आई की लोधढ़ ता नही लद्धड सबद सुने बाटी . बहुत जाने कहेले की मारा सारे के उ ससुर बहुत लद्धड मनई बा.
    आज देखे त् आप बतैले रहलें हँ . धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं