शुक्रवार, 26 दिसंबर 2008

मड़गिल्ला करब : आज क् अवधी

२६-दिसम्बर-२००८: आज क् अवधी
=========================

मड़गिल्ला करब
-------------------
जेतना चाहे ओसे ढेर गील क्इ के ख़राब कइ देब
(जरूरत से ज्यादा गीला करके ख़राब कर देना)

वाक्य में प्रयोग
------------------
आटा में एतना पानी डरबू त ई मड़गिल्ला होइ जाए.


टिप्पणी:
---------
अब तक मैं टिप्पणी खड़ी हिंदी में करता रहा हूँ, पर आज से ये भी अवधी में करने का विचार हो रहा है.
ई शब्द बहुत कम सुनात ह. जइसे जब गाँव-देहात में कच्ची देवार बनव्इ बिना माटी सानि जात ह त कबहुं-कबहुं जब केहू पहिली दाई सानत ह त मड़गिल्ला होइ जात ह. कइसन लाग आज क ई शब्द, आप सभे जरूर बतावइ. धन्यवाद.

2 टिप्‍पणियां:

  1. e madgilla shabd tu kahan sunla bhaiya ham t kabahu na sune rahe.....e hamari awadhi shabd kosh me nawa hau.....t hamar prayatn kaisan raha ......goood keep writing

    उत्तर देंहटाएं